मधेसी पार्टी एकीकरण: पार्टी अध्यक्छ के लिए चुनाव हो

Description unavailable
Description unavailable (Photo credit: lecercle)
छे महिने के प्रयासोके बाद भी अभी तक मधेसी पार्टीयोकी एकीकरण नहीं हुई है। पार्टी अध्यक्छ कौन बनेगा इस बात को लेकर एकीकरणकी गाड़ी किंचर में फँस गई है, ऐसे सन्देश आ रहे हैं। हृदयेश त्रिपाठी और राजेन्द्र महतो कह रहे हैं कि हम तो साधारण सदस्य बन्ने को तैयार है, हमें दोष मत दो। महंथ ठाकुर और उपेन्द्र यादव की ओर उंगली दिखा रहे हैं।

पार्टी अध्यक्छ तो सिर्फ पार्टी कन्वेंशन चुन सकती है। 10-20 मधेसी नेता के मानने से भला कब कौन पार्टी अध्यक्छ बनने लगा? एक मधेश एक प्रदेश तो गई। बन्दर रोटी खा गया। एक मधेश एक प्रदेश पच्चीस मधेसी पार्टी का नारा मेल नहीं खाता।

अब एक मधेस दो प्रदेश एक मधेसी पार्टी के नारे पर आइए।


MJF(D)  2,66,276
MJF, N  2,12,733
TMLP   1,80,435
SP         1,33,521
NMSP      79,264
Terai Madhesh Sadbhavana Party  64,299
Tharuhat Terai Party Nepal           62,889
Dalit Janajati Party                        47,696
Nepali Janata Dal                          33,186
MJF(R)                                        32,004
Federal Sadbhavana Party              26,463
Madhesh Samta Party Nepal          23,960
Federal Democratic National Front (Tharuhat) 21,519
Tharuhat Tarai Party Nepal           13,811

सिर्फ तीन पार्टीयोको एक करना है ऐसी बात नहीं है। मैं तो १४ पार्टीयोको गिन रहा हुँ। उन सबको एक करना है। अगर ठाकुर और यादव दोनों को अध्यक्छ बनना है तो बहुत अच्छी बात है। एकीकृत पार्टी का कन्वेंशन हो और उसमें दोनों उम्मेदवारी दे। उस होड़बाजी में दोनों कमसे कम जमके मेम्बरशिप ड्राइव तो करवाएंगे।  उससे पार्टीको फायदा होगी।

Comments