मधेस आन्दोलनका Winter Break

मधेस आन्दोलनका Winter Break बहुत अच्छी बात है। किसीको ऐसा ना लगे कि आंदोलन सुस्त हो गया देखो। आंदोलन जारी है। ये Winter Break भुकम्प पीड़ित के लिए है। बाँकी लोग भी सर सामान जितना स्टॉकिंग करना हो अपना कर ले। अभी कहि दे रहे हैं। बाद में मत बोलना कि नहीं बोले थे। ये कुछ हप्ता चलेगा।

भुकम्प पीड़ित मुख्य रूप से तामांग और गुरुंग हैं और दलित हैं, कुछ शेरपा भी हैं। तो ये सब हमारे कोएलिशन के लोग हैं। सत्ताधारी को ये कहने का मौका ना मिले। अभी कुछ हप्ता राहत का काम हो जोड़ो से। जाड़ा कुछ हप्ते में बहुत बढ़ेगा। उससे पहले ही कुछ काम हो जाए।

लेकिन ये समय आतंरिक समीक्षा का है, ये समय संगठन विस्तार का है। ये समय सभा का है। वडा सभा। गाउँ सभा। ये समय है स्ट्रेटेजी बनाने का। ये समय है विचार विमर्श का। ये समय है तालीम देने और लेने का। शक्ति संचय का समय है। सर सामान स्टॉकिंग मधेस में भी तो करना है।

संगठन संख्या से सम्बंधित चीज है। यानि की आपके संगठन में कितने सदस्य हैं। मैं बहुत दिन से कह रहा हुँ दैनिक वडा सभा करो और दैनिक सदस्य संख्या फ़्लैश करते जाओ। सनातनी दल मुक्त वार्ड, सनातनी दल मुक्त गाउँ, सनातनी दल मुक्त शहर, सनातनी दल मुक्त जिल्ला घोषणा करते जाओ, देखो साढ़े तीन सनातनी दल कैसे लाइन पे आ जाते हैं।


Comments