विद्या के जनकपुर विवाह पंचमी तांडव नृत्य के बाद

विद्या के जनकपुर विवाह पंचमी तांडव नृत्य के बाद जिन मधेसियोंको अधिकार से मतलब नहीं था या अभी भी कोई खास नहीं हैं वो भी अब जग गए हैं, कि ये तो अकल्पनीय अनर्थ हो गया। ये क्या हो गया? जनकपुर सारे मधेसकी राजधानी है पुर्व से पश्चिम तक। राजनीतिक और सांस्कृतिक राजधानी।

सारे देशका ८०% राजस्व संकलन वीरगंज में होती है तो सारे देशकी राजधानी वीरगंज क्यों नहीं हो सकती? अब सोंचने का समय आ गया है।


Comments