हम काठमाण्डु तक पहुँचेंगे

रावण को खात्मा करने
राम पहुँचे श्री लंका
काठमाण्डु में रावण राज्य का
स्थापना हो
और जनकपुर के लोग चुप रहे
वो हो नहीं सकता

मधेस अलग देश
पहला कदम होगा
लेकिन वो तो सिर्फ शुरुवात होगी

पहाड़ के जनजाति को भी
मदत करेंगे
अगर वो अलग अलग
देश बनाना चाहे
शाही सेना में
जनजातियों से
म्युटिनी करवाएंगे
कहेंगे
जागो
२५० साल
सैनिक बन के रहे
अब वक्त आ गया है
तुम्हारे
प्रधान सेनापति
बनने का
जागो
विद्रोह करो

हम कर्णाली को
मुक्त करेंगे
सीमांकन दे के
तुम्हें
शक्ति बाँडफाँड में
ठग लिया गया
तुमने झुठा
जस्न
मनाया
जरा सोंचो
तुम
५०० सौ साल पहले
समृद्ध
अभी
बिज्ञान टेक्नोलॉजी के
जुग में
गरीब क्युँ

और तिरहुतिया सेना
२५० साल वाली अधुरी काम
अब जा के पुरा करेगी
मैथिलि भाषा को
अपने दरबार में
सम्मान दे के रखे
अपने मित्रों को
लिबरेट करेंगे
जा के

हम काठमाण्डु तक पहुँचेंगे

Kathmandu, here we come.

लोकतंत्र, मानव अधिकार, गणतंत्र, संघीयता, समावेशीता
पर कोई compromise नहीं

क्रांतिकारी सीमांकन नामांकन
१००% दलित अधिकार और क्षतिपूर्ति
१००% महिला अधिकार
का क्रांतिकारी लेखन

मधेस अलग देश स्थापना कर के
हम काठमाण्डु तक पहुँचेंगे

तख्तापलट

राजनीति युद्ध होती है
युद्ध राजनीति


मिनेन्द्र, तिमी राजपक्ष होइनौ
Madhesi Kranti 3: In Solidarity
ए सुशील, क्रांति को तिमीलाई आदेश छ
बामे, तिमी झस्केको

Comments